Friday, March 12, 2010

कम उम्र में बचत शुरू करने के फायदे

हममें से बहुत से लोग निवेश शुरू करने की योजना को टालते रहते हैं। ऐसा करने पर शायद हम यह भूल जाते हैं कि कम उम्र में निवेश शुरू करने के बहुत सारे फायदे होते हैं। जल्दी निवेश शुरू करने से उस पर मिलने वाला कंपाउंड (चक्रवृद्धि) ब्याज और नियमित निवेश जीवन के दूसरे पड़ाव के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होता है। ऐसे में थोड़ा ही सही लेकिन नियमित निवेश शुरू करने में देरी नहीं करनी चाहिए। जल्द निवेश का फायदा यह होता है कि यह लगातार बढ़ता रहता है और यह एक बड़ी रकम का रूप ले लेती है। उदाहरण के लिए मानो आपने अपने रिटायरमेंट के लिए वर्ष 2008 में निवेश शुरू किया। यदि आप एक लाख रुपये सालाना निवेश करते हैं और इस पर 15 फीसदी सालाना रिटर्न मिलता है तो 2038 तक आपका निवेश 4.35 करोड़ रुपये की भारी रकम का रूप ले लेगा। लेकिन यदि आपने इसमें दो साल की भी देरी की और वर्ष 2010 से निवेश शुरू किया तो 2038 में आपके हाथ में केवल 3.27 करोड़ रुपये ही होंगे। यानी आपको केवल दो साल की देरी की वजह से 1.08 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ जाएगा। यही नहीं आप केवल एक साल की भी देरी करते हैं तो तब आपकी रकम 3.77 करोड़ रुपये ही बनती है यानी 58 लाख रुपये का नुकसान। ये 58 लाख रुपये और कुछ नहीं हैं बल्कि आपके निवेश पर हासिल होने वाला 15 फीसदी रिटर्न ही है। छोटी बचत वालों पर भी यह बात उतनी ही लागू होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बाद के सालों में आप कंपाउंडिंग इंटरेस्ट का फायदा नहीं ले पाते हैं। नीचे एक टेबल दी गई है जिसकी मदद से आप आसानी से समझ पाएंगे कि कैसे एक लाख रुपये विभिन्न ब्याज दरों और सालों में बढ़ता रहता है। दो केस स्टडीज से हम देखेंगे कि जल्दी निवेश कैसे फायदेमंद रहता है। स्टडी-1.रॉबर्ट और अजय ने अपना कैरियर एक साथ 23 साल की उम्र में शुरू किया। केस.1 (अजय)अजय कम उम्र में निवेश शुरू करने के महत्व को समझता था और उसने 25 साल की उम्र में 50,000 रुपये सालाना निवेश शुरू कर दिया। 10 फीसदी सालाना रिटर्न के हिसाब से 10 वें साल के आखिर तक उसके पास 7.97 लाख रुपये की पूंजी जमा हो चुकी थी। यह सालाना ब्याज पर आधारित है न कि कंपाउंड पर। इसके बाद उसने 65 की उम्र तक कोई निवेश नहीं किया और केवल 7.97 लाख रुपये पहले 10 साल में बचाए तो बढ़ते रहे। जब 65 साल का हुआ तो उसके पास एक करोड़ 40 लाख रुपये थे। केस.2 (रॉबर्ट)रॉबर्ट ने पहले खूब खर्च किया और शुरुआती सालों में बचत पर ध्यान नहीं दिया। जब वह 35 साल का हुआ तो उसने निवेश शुरू किया और अगले 30 साल तक 50,000 रुपये सालाना बचाता रहा, जब तक वह 65 साल का हो गया। उसे भी निवेश पर सालाना 10 फीसदी रिटर्न मिला। ऐसे में रॉबर्ट ने अजय के मुकाबले 20 साल ज्यादा निवेश भी किया फिर भी उसके हाथ में 65 की उम्र में केवल 82.2 लाख रुपये थे जो अजय से 43 फीसदी कम हैं।इसे ऐसे समझा जा सकता है- 'एनÓ सालों के बाद 'एÓ अमाउंट 'आईÓ फीसदी की दर से निवेश तो रिटर्न होगा क्र्रस्*[(१+क्रद्बस्)क्रट्टस् क्रठ्ठस्-१]/क्रद्बस्केस स्टडी 2मानो 100 साल बाद रॉबर्टगंज का रॉबर्ट और हरियाणा के अजय का पुनर्जन्म होता है। इस बार रॉबर्ट एक्सट्रा स्मार्ट है और अजय एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। दोनों की उम्र 25 साल हो गई है और वे 60 की उम्र में रिटायर होना चाहते हैं। दोनों अच्छी कमाई करते हैं (एक लाख रुपये सालाना तक निवेश कर सकते हैैं) जिस पर 12 फीसदी सालाना रिटर्न मिल सकता है।केस.1रॉबर्ट जल्दी निवेश शुरू करता है और अगले 10 साल तक एक लाख रुपये सालाना बचाता है और रिटर्न के साथ यह एक अच्छी रकम हो जाती है। इसे वह अपने रिटायर होने तक के लिए निवेश कर देता है। वह अगले 20 साल के लिए भी निवेश कर सकता है, लेकिन अब वह अपने एक लाख रुपये को हर साल घूमने-फिरने पर खर्च करता है। केस.2अजय सोचता है कि रॉबर्ट ईडियट है। वह अपनी लाइफ को एंजॉय नहीं कर रहा है। अगर वह पांच साल बाद निवेश शुरू करेगा तो क्या बिगड़ जाएगा। उसका मानना है कि कुछ साल तो एंजॉय करना ही चाहिए। केस.2.1पांच साल बाद अजय एक लाख रुपये सालाना निवेश शुरू करता है। पांच साल बाद वह देखता है कि रॉबर्ट तो निवेश बंद कर लाइफ को एंजॉय कर रहा है। तो वह भी ऐसा ही करता है। वह भी निवेश रोक देता है। केस.2.2पांच साल बाद अजय निवेश शुरू करता है और सोचता है कि वह रिटायर होने तक अगले 30 साल निवेश करेगा। आखिर में वह रॉबर्ट से ज्यादा धन 12 फीसदी रिटर्न पर चाहता है।केस 2.1: अजय के पास रिटायर होते समय कितना पैसा होगा? 66 लाख रुपये। केस.2.2: में अजय को कितना हासिल होगा-1.64 करोड़ रुपये। और रॉबर्ट, पहले 10 साल तक निवेश कर अगले 20 साल तक एंजॉय करने पर उसके पास रिटायरमेंट के समय 1.72 करोड़ रुपये होंगे। यानी जल्द निवेश शुरू करने वाले को कोई नहीं पहुंच सकता।

No comments: